अर्थशास्त्र परिचय

 अर्थशास्त्र = अर्थ + शास्त्र

जहाँ अर्थ का तात्पर्य धन से है और शस्त्र का अर्थ अध्ययन करना से है।

अर्थशास्त्र को ही अंग्रेजी में economics कहा जाता है जो की ग्रीक भाषा के शब्द oikonomia से लिया गया है।

यह शब्द दो शब्दों से मिलकर बना है - oikos+nomas

* यूनानी दार्शनिक अरस्तू ने अर्थशास्त्र को 'घरेलू प्रबंधन का विज्ञान' कहा है।

* अर्थव्यवस्था एवं अर्थशास्त्र में क्या अंतर है?

अर्थशास्त्र - अर्थशास्त्र सामाजिक विज्ञान की वह शाखा है, जिसके अंतर्गत वस्तुओं और सेवाओं के अध्ययन, वितरण, विनिमय और उपभोग का अध्ययन किया जाता है।

अर्थशास्त्र - अर्थशास्त्र एक विज्ञान है जो मानव व्यवहार का अध्ययन उसकी आवश्यकताओं एवं उपलब्ध संसाधन के वैकल्पिक प्रयोग के मध्य सम्बन्ध का अध्ययन करता है।

        

* अर्थशास्त्र का इतिहास 

अर्थशास्त्र का सबसे प्राचीन स्रोत कौटिल्य का ग्रन्थ 'अर्थशास्त्र' है जो की लगभग चौथी शताब्दी ईसापूर्व में लिखा गया ।

कौटिल्य ने अपने ग्रन्थ में अर्थ का सन्दर्भ धन से लिया है।

किन्तु कौटिल्य का यह अर्थशास्त्र आधुनिक economics जैसा नहीं था। इसमें सामाजिक राजनितिक आर्थिक सैनिक वैदिशिक संबंधों इत्यादि का समग्र उल्लेख था। यह इसलिए था क्योंकि उस समय अर्थशास्त्र एक अलग शाखा के रूप में विकसित नहीं हुआ था।

* आधुनिक अर्थशास्त्र का जनक एडम स्मिथ को कहा जाता है। इन्होंने 1761 में अपनी पुस्तक द वेल्थ ऑफ नेशन्स में अर्थशास्त्र को धन के विज्ञान के रूप में परिभाषित किया ।

                इसमें उन्होंने यह बतलाया है कि प्रत्येक देश के अर्थशास्त्र का उद्देश्य उस देश की संपत्ति और शक्ति बढ़ाना है।


* एडम स्मिथ के बाद माल्यन , रिकार्डो, मिल, जेवन्स , काल मार्क्स , सिजविक , मार्शल , वाकर, टासिग और रॉबिन्स ने अर्थशास्त्र संबंधी अपने विचार प्रतिपादित किए।


** भारतीय अर्थशास्त्र का जनक कौटिल्य को माना जाता है।

6th NCERT

ECONOMICS

GS

HISTORY

NCERT Solution


Comments

Popular posts from this blog

अध्याय- 3 पृथ्वी की गतियाँ 6th NCERT

अध्याय 2. ग्लोब : अक्षांश एवं देशांतर 6th NCERT

अध्याय 7 हमारा देश : भारत 6th NCERT