Introduction of History ( इतिहास का परिचय )

* अतीत के अध्ययन को इतिहास कहा जाता है (इति + हास = इतिहास )

 * इतिहास के जनक हेरोडोटस को कहा जाता है। 

* इतिहास को लिखित और अलिखित के आधार पर तीन भाग में बांटा गया था जॉन  बुश के द्वारा। 

1 प्राक ऐतिहासिक  

2 आद्य ऐतिहासिक 

3 ऐतिहासिक 

* कहाँ क्या मिला था इसके आधार पर इतिहास को क्रिशचन थॉमसन ने भी तीन भाग में बाँटा था। 

1 पाषाण काल 

2 कांस्ययुगीन 

3 लौहयुगीन 


* प्राक ऐतिहासिक - इस समय की लोग लिखना पढ़ना नहीं जानते थे इसलिए लिखित साक्ष्य नहीं मिली है इसलिए इसकी जानकारी केवल पुरातात्विक स्रोतों से मिलता है। इसके अंतर्गत पाषाण काल आते हैं। 


* पाषाण काल  - इस काल में पत्थर का प्रयोग हुआ था इसिलए इसे पाषाण काल कहा जाता है। इसे चार भाग में बांटा गया है ।

1 पुरा पाषाण काल - (25000-7000 BC) इस समय के लोग खानावदोश(खाद्य संग्राहक ) थे। इस काल मे लोग पत्थर के औजार का प्रयोग करना सीख गए थे । इस काल की सर्वोत्तम खोज आग की खोज थी । 

2 मध्य पाषाण काल - (7000-5000 BC) इस समय लोगों के पहली बार अन्त्येष्टि करने करने का प्रमाण मिल है। इस समय सुलेमान एवं किरथर पहाड़ियों के बीच कृषि के प्रमाण मिले हैं । 




Comments

Popular posts from this blog

अध्याय- 3 पृथ्वी की गतियाँ 6th NCERT

अध्याय 2. ग्लोब : अक्षांश एवं देशांतर 6th NCERT

अध्याय 7 हमारा देश : भारत 6th NCERT